Universe TV
हर खबर पर पैनी नजर

आदिवासी संगठनों के जुलूस में हावड़ा ब्रिज जाम, बसों की लगी है लंबी कतारें, लोग हलकान

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

कोलकाता ल हावड़ा ब्रिज पर सभी तरह का यातायात बंद है. आदिवासी संगठनों के जुलूस में यात्री बेहाल है। आदिवासी संगठनों के जुलूस के कारण हावड़ा ब्रिज जाम हो गया है. यात्री बसों की कतारें खड़ी हो गईं। ये मार्च कितने दिनों तक चलेगा ये अभी साफ नहीं है.
हालांकि, आंदोलनकारियों का कहना है कि यह जुलूस धर्मतल्ला तक जाएगा. जुलूस हावड़ा ब्रिज से ब्रेबोर्न रोड होते हुए आगे बढ़ेगा। शुक्रवार की सुबह करीब नौ बजे हावड़ा ब्रिज पर अचानक नाकाबंदी शुरू हो गयी.
आदिवासी समुदायों के प्रतिनिधि झंडे लेकर सड़क पर खड़े देखे जा सकते हैं. उनका दावा है कि कुर्मी-महतोरा बलपूर्वक अनुसूचित जनजाति का दर्जा पाना चाहते हैं. उन्हें राजनीतिक समर्थन भी मिल रहा है. जिसके विरोध में ‘यूनाइटेड फोरम ऑफ ऑल आदिवासी ऑर्गेनाइजेशन’ आ गया है. संगठन में विभिन्न आदिवासी संगठन शामिल हैं। शुक्रवार सुबह भी उनकी बैठक थी.
आदिवासी सबसे पहले हावड़ा स्टेशन पर जुट रहे हैं. वहां से ये अलग-अलग दिशाओं में फैल रहे हैं. ज्यादातर लोग पैदल ही हावड़ा ब्रिज पार कर रहे हैं. इससे यात्रियों को परेशानी उठानी पड़ी। उन्हें बस से उतरने के लिए मजबूर किया गया. उन्होंने प्रशासन के प्रति अपना गुस्सा जाहिर किया. जुलूस हावड़ा ब्रिज से होते हुए कोलकाता के ब्रेबोर्न रोड की ओर बढ़ रहा है। जिससे पुल पर आवागमन बंद हो गया है.
कुछ यात्री इस बात से नाराज हैं कि जगह-जगह ट्रैफिक तैनात होने के बावजूद वे ज्यादा सक्रिय भूमिका में नहीं दिखे. स्ट्रैंड रोड की ओर रास्ता बंद होने के कारण ऑफिस जाने वाले लोग वैकल्पिक साधनों से अपने गंतव्य तक नहीं पहुंच पा रहे हैं. उनमें से एक के शब्दों में, ”हमें इस जुलूस का कारण नहीं पता. लेकिन काम के घंटों के दौरान इस तरह से परेशान किया जाना बहुत मुश्किल है.” लाइन में खड़े एक मिनी बस के कंडक्टर ने भी दावा किया कि उन्हें जुलूस के बारे में पता नहीं था. इसलिए काफी देर तक बस लेकर पुल पर खड़ा रहा। यह जुलूस कब ख़त्म होगा, कब आप कार से जा सकेंगे, कुछ पता नहीं. इस जुलूस के कारण बड़ाबाजार समेत कोलकाता के कई इलाकों की सड़कों पर दबाव बढ़ता जा रहा है. आशंका है कि यह तकलीफ शुक्रवार को पूरे दिन जारी रह सकती है.


- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.