Universe TV
हर खबर पर पैनी नजर

एमएस धोनी ने क्या-क्या नहीं किया, विराट कोहली ने उसका अच्छा सिला दिया!

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

यूनिवर्स टीवी डेस्क। वो गाना है ना- अच्छा सिला दिया तूने मेरे प्यार का. या फिर- मेरी जिंदगी संवारी मुझको गले लगा के… बॉलीवुड का इनमें से कोई भी सॉन्ग ले लें, आपको वो धोनी और विराट के उस सिचुएशन में जमता दिखेगा, जिसकी हम अभी बात करने जा रहे हैं। ये सिचुएशन उस किताब से ली गई है, जिसे टीम इंडिया के पूर्व फील्डिंग कोच आर. श्रीधर ने लिखा है। अपनी किताब ‘कोचिंग बियॉन्ड’ में उन्होंने दावा किया है कि धोनी और विराट में ठनने वाली थी। अब जाहिर है इतना पढ़ने के बाद आपकी कानों में विराट कोहली के वो सारे बयान गूंजने लगे होंगे, जो उन्होंने धोनी भाई, धोनी भाई करते हुए ही दिए हैं। लेकिन, श्रीधर की किताब के मुताबिक विराट के उन अच्छे-अच्छे बयानों से पहले जो हुआ, उसे जानने के बाद आप यही कहेंगे विराट ने ये क्या किया ?
विराट ने क्या किया? क्यों किया? ये बड़ा सवाल है। जवाब भी बताएंगे। लेकिन पहले जरा धोनी ने विराट कोहली के लिए क्या क्या किया? उन्हें कितना कुछ दिया? वो जान लीजिए। विराट आज जहां खड़े हैं, उसके पीछे एमएस धोनी का बिग रोल है। उन्होंने एक अच्छा कप्तान, सच्चा दोस्त और एक बेहतरीन मेंटर बनकर विराट कोहली के करियर को संवारा है।
कोहली को ‘विराट’ बनाने वाले हैं धोनी
रोहित शर्मा उनसे सीनियर और मुबई क्रिकेट का उभरता हुआ नाम होकर भी 2011 का वनडे वर्ल्ड कप नहीं खेले थे। क्यों, क्योंकि एमएस धोनी को टीम में विराट कोहली चाहिए थे। उन्होंने विराट को रोहित से पहले रखा। परफॉर्म किया, नहीं किया, तो भी टीम की प्लेइंग इलेवन में बनाया रखा। उनके अंदर ये भरोसा और विश्वास जगाया कि वो खेलें, उनका उन्हें पूरा समर्थन है। एक खिलाड़ी को अपने कप्तान से और क्या चाहिए।
इतना ही नहीं विराट कोहली जब टीम इंडिया में जम गए। उन्हें अंतर्राष्ट्रीय अनुभव हो गया तो 2014 में एमएस धोनी ने उनके लिए टेस्ट कप्तानी तक छोड़ दी। यही नहीं एमएस धोनी अपने रिटायरमेंट के बाद भी विराट कोहली के साथ खड़े रहे हैं। खुद विराट ने ही माना है कि जब वो शतक के लिए जूझ रहे थे तो धोनी ने उन्हें मैसेज किया था।
धोनी ने इतना दिया पर विराट ने क्या किया?
खैर धोनी ने तो इतना कुछ दिया लेकिन, विराट कोहली ने क्या किया? आर. श्रीधर की किताब के मुताबिक बात साल 2016 की है।किताब के 42 नंबर पेज पर इस बात का जिक्र है कि कैसे विराट कोहली के अंदर पनपे व्हाइट बॉल कप्तानी के कीड़े के चलते धोनी के साथ उनके रिश्ते बिगड़ने वाले थे। बेशक रवि शास्त्री की सूझ बूझ से ऐसा नहीं हुआ क्योंकि उन्होंने विराट कोहली को इसे लेकर काफी समझाया था। लेकिन, ये जानते हुए कि जब वो इंटरनेशनल क्रिकेट में खड़े हो रहे थे, एमएस धोनी ने उनके लिए क्या-क्या किया, जो वो करने जा रहे थे वो किसी क्राइम से कम नहीं था।


- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.