Universe TV
हर खबर पर पैनी नजर

कभी देखी है ‘खटिया कार’: गांव के लड़के ने लगाया गजब जुगाड़, एक चार्जिंग में चलती है 60 किलोमीटर

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

डेस्क। वैसे तो खटिया को ग्रामीण क्षेत्रों में चारपाई भी कहा जाता है। लोग इसका उपयोग आराम और सोने के लिए करते हैं। वहीं, मध्य प्रदेश के अशोकनगर जिले के गांव में रहने वाले एक युवक ने खटिया को ही वाहन का स्वरूप दे दिया। इसका नाम खटिया कार है। इसे चलाने के लिए पेट्रोल-डीजल की जरूरत नहीं पड़ती है। यह इलेक्ट्रिक चार्जिंग और सौर उर्जा से चलता है। इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है। खटिया कार की तारीफ उद्योगपति आनंद महिंद्रा भी कर चुके हैं।
10वीं पास युवक ने बनाई खटिया कार
दरअसल, अशोक नगर जिला मुख्यालय से सेमरखेड़ी गांव 15 किमी दूर है। इसी गांव में 21 वर्षीय युवक पवन ओझा रहता है। पवन ओझा बचपन से ही पढ़ाई में कमजोर था लेकिन टेक्निकल चीजों में दिमाग चलता था। पवन ओझा ने बताया कि वह बचपन से ही पढ़ाई में कमजोर था। नए-नए प्रयोग करना उसे अच्छा लगता था। इसीलिए उसने दसवीं के बाद पढ़ाई छोड़ दी। मोटर वाइंडिंग का काम सीखा और इसी दौरान अपने काम के साथ-साथ फ्री समय में नए-नए प्रयोग और उपकरण बनाने लगा। एक दिन वह अपने खेत पर खटिया पर लेट आराम कर रहा था। तभी उसे ख्याल आया कि क्यों ना इस खटिया को ही कार बनाया जाए और वह इस काम में जुट गया।
25-30 हजार रुपए का आया खर्चा
उन्होंने बताया कि इसके एक वाहन का इंजन और उसमें लगने वाली मोटर सहित सामग्री एकत्रित की। करीब डेढ़ माह में उसने यह वाहन को तैयार कर दिया। इसमें करीब 25 से 30 हजार रुपए का खर्च आया। बढ़ती महंगाई और डीजल-पेट्रोल की झंझट की वजह से पवन ने इसे इलेक्ट्रिक वाहन के रूप में बदल दिया। चार्जिंग बैटरी का इस्तेमाल कर इस वाहन को इलेक्ट्रिक खटिया वाहन बना दिया।
सौर उर्जा से चलाने की तैयारी
अब सोलर प्लेट लगाकर इस वाहन को सौर ऊर्जा से चलने वाला वाहन बनाने की तैयारी है, जिसके लिए वह ट्रायल भी कर चुका है। पवन ने बताया कि पहले यह वाहन पेट्रोल से चलाता था। इसमें सोलर पैनल की प्लेट को छत की जगह लगाया। जिससे बिना खर्चे की यह कार चलेगी। साथ ही सोलर पैनल से धूप और बारिश से भी बचाएगी।
तीन घंटे की चार्जिंग में 60 किमी चलेगी
वहीं, उन्होंने बताया कि करीब 3 घंटे की चार्जिंग में 60 किलोमीटर तक इस वाहन से सफर किया जा सकता है। इस वाहन की 50 किलोमीटर प्रति घंटा स्पीड है। पवन के मुताबिक इस खटिया कार पर चार से पांच लोग आसानी से बैठकर सफर कर सकते हैं। साथ ही इस वाहन में तीन से चार क्विंटल वजन की क्षमता भी है। इससे सामान भी ढोया जा सकता है।
रंग-बिरंगी लाइटों से सजाया गया
वहीं, वाहन को आकर्षक बनाने के लिए इसको रंग-बिरंगी लाइटों से सजाया गया है। साथ ही इसमें म्यूजिक सिस्टम के साथ-साथ बैठने वालों को हवा के लिए पंखे का इंतजाम भी किया है। खटिया कार का वीडियो वायरल होने के बाद महिंद्र ग्रुप के निदेशक आनंद महिंद्रा इसकी तारीफ कर चुके हैं। उन्होंने इसे ग्रामीण अंचल में कम बजट में चलने वाले वाहन बताया है। पवन ने इससे पहले कई और उपकरण भी बनाएं, उसने हिमाचल प्रदेश सहित कई अन्य राज्यों में ऑनलाइन बेचा है। वहीं, पवन ने एक इलेक्ट्रिक साइकिल भी बनाई है जो बैटरी से चलेगी। वह, 40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार में सड़क पर दौड़ेगी।

 


- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.