Universe TV
हर खबर पर पैनी नजर

तस्कर ने बीएसएफ जवानों पर लगाया सोना लूटने का आरोप झूठा आरोप, छुपा कर रखा था खेत में, एनसीबी ने पकड़ा 8.5 क्विंटल गांजा

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

कोलकता। भारत-बांग्लादेश सीमा बीएसफ पर गत 21 मार्च को 10 सोने के बिस्किट के साथ पकड़े गए तस्कर सुमन मंडल ने बीएसएफ जवानों पर और 10 सोने के बिस्किट छीनने के आरोप लगाए थे, हालांकि बाद में जांच पड़ताल और तलाशी अभियान के दौरान पता चला कि उसने अपने खेत में बाकी के सोने के बिस्किट छिपा रखे थे और बीएसएफ जवानों को फंसाने के लिए झूठ बोल रहा था। बीएसएफ के दक्षिण बंगाल के प्रवक्ता ने शनिवार सुबह इस बारे में जानकारी दी है। दूसरी ओर, एक अन्य घटना में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी ) की कोलकाता इकाई ने 846 किलो गांजा के साथ एक तस्कर को धर दबोचा है।
बीएसएफ की ओर से जारी बयान में बताया गया कि 21 मार्च को सुमन मंडल को 10 सोने के बिस्किट के साथ पकड़ा गया था और सोना सहित तस्कर को वनगांव कस्टम विभाग के हवाले कर दिया गया था। वहां पूछताछ में उसने बताया था कि बांग्लादेश से वह 20 सोने का बिस्किट लेकर आया था, लेकिन बीएसएफ के जवानों ने 10 बिस्किट अपने पास रख लिए और बाकी 10 सोने के बिस्किट के साथ उसे कस्टम विभाग को सौंप दिया है।
तस्कर ने बीएसएफ जवान को फंसाने की रची थी साजिश
कस्टम अधिकारियों ने जब इस संबंध में बीएसएफ जवानों से संपर्क साधा तो जवान काफी चिंतित हो गए और सुमन मंडल की तस्करी वाले रूट पर तलाशी अभियान शुरू की गई। बाद में सुमन मंडल के खेत के अंदर 10 सोने के बिस्किट एक प्लास्टिक में सेलो टेप के जरिए चिपका कर छिपाए हुए मिले। उसे बरामद कर कस्टम विभाग को सौंप दिया गया है। बाद में उसने स्वीकार किया कि बीएसएफ जवानों को फसाने के लिए उसने झूठी कहानी गढ़ी थी। बीएसएफ की 107 वीं बटालियन के कमांडिंग ऑफिसर सुनील कुमार ने बताया कि बीएसएफ जवान सीमा पर ईमानदारी से अपने कर्तव्यों का निर्वहन करते हैं। तस्करी में लिप्त अपराधियों को लगातार धर पकड़ कर रहे हैं इसलिए जवानों का मनोबल तोड़ने के लिए झूठी कहानियां भी गढ़ी जा रही हैं, लेकिन इससे बीएसएफ की कार्रवाई पर कोई असर नहीं होगा और तस्करों के खिलाफ लगातार अभियान जारी रहेगा।
एनसीबी ने भारी मात्रा में जब्त किया गांजा
एनसीबी के कोलकाता क्षेत्रीय उपनिदेशक सुधांशु सिंह ने शनिवार को बताया कि शुक्रवार को पुख्ता सूचना मिली थी कि कूचबिहार जिले के कोतवाली थाना अंतर्गत निशीगंज गांव में अभिराम विश्वास नाम के एक व्यक्ति के घर गांजा को एकत्रित कर रखा गया है, तुरंत स्थानीय सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) से संपर्क साधा गया और दोनों ही केंद्रीय एजेंसियों ने मिलकर अभिराम के घर छापेमारी की। मौके से 846 किलो गांजा बरामद किया गया। विश्वास को गिरफ्तार कर लिया गया है। उससे पूछताछ के बाद पता चला है कि कूचबिहार के ही पेटभाटा से गाजा को खरीदा गया था जिसे पश्चिम बंगाल के विभिन्न हिस्सों में सप्लाई किया जाना था। बंगाल के अलावा आसपास के राज्यों में भी इसकी तस्करी होनी थी। उससे पूछताछ कर उसके अन्य साथियों के बारे में पता लगाने की कोशिश की जा रही है. उसे आज शनिवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा।


- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.