Universe TV
हर खबर पर पैनी नजर

सिलीगुड़ी में पत्नी की हत्या मामला : बॉडी के बाद आख़िरकार मिला कटा सिर मिला

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

सिलीगुड़ी। फांसीदेवा के तीस्ता कैनाल से गृहिणी रेणुका खातून का शव बरामद हुआ। आरोपी पति के निशानदेही पर सुबह लगभग 10 बजे पुलिस ने तीस्ता कैनाल से रेँणुका का शव बाहर निकाला। सिलीगुड़ी के फांसीदेवा की रहने वाली रेणुका खातून का शव दो टुकड़ों में काटकर पानी में फेंकने का मामला गुरुवार को सामने आया था। उसके बाद दोपहर से आपदा मोचन बल ने सर्च ऑपरेशन शुरू किया। शुक्रवार सुबह करीब 24 घंटे के बाद रेणुका का शव मिला। उसके दो घंटे के बाद कटा सिर भी मिल गया है।
इससे पहले पुलिस ने उसका कटा हुआ सिर एक अलग बोरी में बंद हालत में कैनल से निकाला गया। उल्लेखनीय है कि 24 दिसंबर को उसके पति एमडी अंसारुल ने विवाहेतर संबंधों के शक पर पत्नी की हत्या कर दी और शव के दो टुकरे कर दो बोरियों में भरकर कैनाल में फेंक दिया था। घटना की जांच के बाद पुलिस ने उसके पति एमडी अनासरुल को गिरफ्तार कर लिया। फिर उसने पुलिस के सामने हत्या की बात को कबूला।
मृत गृहिणी के जीजा का आरोप है कि रेणुका खातून का किसी के साथ कोई अवैध संबंध नहीं था। बल्कि आरोपित एमडी अंसारुल के माटागाड़ा की एक लड़की से संबंध थे। इसको लेकर पति-पत्नी में कहासुनी होती थी। इसलिए अपनी गलती छिपाने के लिए उसने पत्नी की हत्या कर दी। कुछ समय पहले मृत महिला का सिर अलग बैग से बरामद किया गया था। शवों की तलाश के लिए प्रशासन ने बीती रात से ही नहर का पानी बंद कर दिया।
पुलिस ने आरोपी पति को किया गिरफ्तार, कबूला अपराध
आरोपी पति मोहम्मद अंसारुल ने गुरुवार को रेणुका की हत्या करने को कबूल कर लिया है। पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया था। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, रेणुका सिलीगुड़ी के पड़ोस के कॉलेज में ब्यूटी पार्लर में काम करना सीखती थी। वह दिसंबर के आखिरी सप्ताह से लापता थी। रेणुका के परिवार ने 24 दिसंबर को सिलीगुड़ी थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई थी। इसके बाद पुलिस ने पड़ताल शुरू की। अंसारुल से पूछताछ में सनसनीखेज जानकारी सामने आई। जांचकर्ताओं को पता चला कि अंसारुल 24 दिसंबर को अपनी पत्नी की हत्या कर दी थी। उसके बाद उसकी पत्नी के शव को दो टुकड़ों में काटकर तीस्ता नहर में बहा दिया था।
तलाशी के बाद मृतका का मिला बॉडी, कटा सिर भी मिला
मृतक के परिजनों के मुताबिक रेणुका की शादी अंसारुल से 6 साल हुई थी। वे दादाभाई कॉलोनी, वार्ड नंबर 43, सिलीगुड़ी में रहते थे। रेणुका के परिवार का दावा है कि शुरू में दंपति के बीच कुछ अनबन थी लेकिन बाद में उन्हें सुलझा लिया गया। तब से सब ठीक था। शव बरामद होने के बाद रेणुका के दामाद मिन्नातुल्ला ने कहा, ”एक बैग में एक लाश बरामद हुई थी। मुझे समझ नहीं आता कि इसमें शरीर के बाकी हिस्से शामिल हैं या नहीं। शव को फांसी थाने ले जाने के बाद ही पता चलेगा । इसके बाद पोस्टमार्टम होगा। मैं इस घटना में मौत की सजा की मांग कर रहा हूं। ” बता दें कि इस घटना के बाद इलाके में सनसनी फैल गई है. इस घटना ने लोगों को श्रद्धा कांड की याद दिला दी है।


- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.