Universe TV
हर खबर पर पैनी नजर

नेपाल प्लेन क्रैश : अब तक 32 की मौत, पहाड़ी से टकराकर नदी में जा गिरा, धमाके के बाद आग लगी

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

काठमांडू। नेपाल में रविवार सुबह बड़ा विमान हादसा हुआ। यति एयरलाइंस का प्लेन ATR-72 में 68 यात्री और 4 क्रू मेंबर सवार थे। नेपाल के स्थानीय मीडिया के मुताबिक, अब तक 32 लोगों के शव निकाल लिए गए हैं। वहीं, नेपाल लाइव टुडे ने 15 मौतों का दावा किया है। हालांकि, एयरलाइंस और सरकार ने कोई आधिकारिक बयान नहीं दिया है।
हादसे की जो तस्वीरें और फुटेज सामने आ रही हैं। उसमें यह हादसा बेहद भयानक नजर आ रहा है। बचाव और राहत में जुटे लोगों के मुताबिक, किसी के बचने की उम्मीद नहीं है। शुरुआती जानकारी के मुताबिक, खराब मौसम की वजह से विमान एक पहाड़ी से जा टकराया और क्रैश होते ही इसमें धमाके के साथ आग लग गई।
प्रधानमंत्री पुष्प कमल दहल ने बुलाई कैबिनेट की इमरजेंसी मीटिंग
हादसे से बाद नेपाल के प्रधानमंत्री पुष्प कमल दहल ने कैबिनेट की इमरजेंसी मीटिंग बुलाई। इधर हादसे वाली जगह पर आर्मी को तैनात कर दिया गया है। उसने बचाव और राहत कार्य का जिम्मा संभाल लिया।
हादसा कहां हुआ
हादसा कासकी जिले के पोखरा में पुराने एयरपोर्ट और पोखरा एयरपोर्ट के बीच हुआ। यहां वह पहाड़ी से टकराकर खाई में जा रहा। पोखरा एयरपोर्ट काठमांडू से 200 किमी दूर है।
कब हुआ हादसा
स्थानीय मीडिया के मुताबिक यह हादसा रविवार सुबह 8 बजे के करीब हुआ। स्थानीय लोग राहत और बचाव के लिए पहुंच गए। हालांकि, मीडिया में यह खबर दोपहर 12 बजे के करीब आई।
10 विदेशी नागरिक सवार थे
विमान को कैप्टन कमल केसी उड़ा रहे थे। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, 68 यात्रियों में से 10 विदेशी नागरिक भी सवार थे। एयरलांइस के प्रवक्ता सुदर्शन बरतौला ने कहा है कि अभी तक किसी जीवित व्यक्ति को नहीं निकाला जा सका है।
2022 के प्लेन हादसे 22 लोगों की मौत हुई थी
नेपाल में पिछले साल मई में भी नेपाल में प्लेन क्रैश होने से 19 पैसेंजर और 3 क्रू मेंबर्स की जान चली गई थी। इस विमान में 4 भारतीय भी थे। नेपाल आर्मी की सर्च एंड रेस्क्यू टीम को मुस्तांग के सैनोसवेयर इलाके की पहाड़ी पर मलबा मिला था। एयरक्राफ्ट 43 साल पुराना था। तारा एयरक्राफ्ट क्रैश की जांच के लिए नेपाल सरकार ने 5 सदस्यीय कमीशन बनाया था। ये कमीशन इस घटना के कारणों की जांच करने के लिए बनाया गया था, इसे प्लेन क्रैश की घटनाओं से बचने के लिए सुझाव देने का काम भी सौंपा गया था।


- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.