Universe TV
हर खबर पर पैनी नजर

पाकिस्तान में सियासी संकट : सुप्रीम कोर्ट पहुंचा अविश्वास प्रस्ताव का मामला, स्पेशल बेंच गठित

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

इस्लामाबाद। पाकिस्तान में रविवार को प्रधानमंत्री इमरान खान के नेतृत्व वाली सरकार के खिलाफ लाए गए अविश्वास प्रस्ताव को बिना मतदान के ही खारिज कर दिया गया। नेशनल असेंबली के डिप्टी स्पीकर कासिम खान सूरी ने पाकिस्तानी संविधान के अनुच्छेद 5 का हवाला देते हुए इस अविश्वास प्रस्ताव को बिना वोटिंग के ही खारिज कर दिया। सूरी ने आज सदन की जिम्मेदारी ऐसे वक्त संभाली जब विपक्ष ने नेशनल असेंबली के स्पीकर असद कैसर के खिलाफ ही अविश्वास प्रस्ताव पेश कर दिया। क्रिकेटर से राजनेता बने इमरान को विपक्ष के अलावा ़प्रमुख सहयोगियों की तरफ से चुनौतियों का सामना करना पड़ा था। कई सहयोगी दलों ने उनका साथ छोड़ दिया था। हालांकि, इमरान खान ने भी दावा किया था कि उनके पास कई योजनाएं हैं।
सुप्रीम कोर्ट पहुंचा अविश्वास प्रस्ताव को खारिज करने का मामला
अविश्वास प्रस्ताव को खारिज किए जाने का मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंच चुका है। विपक्ष की शिकायत के बाद सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के लिए विशेष बेंच गठित की है।
राष्ट्रपति ने भंग की संसद
इमरान खान की सिफारिश के बाद पाकिस्तान के राष्ट्रपति ने ससंद को भंग कर दिया है। दरअसल, इमरान खान ने राष्ट्र के नाम संबोधन में संसद भंग करने की सिफारिश की थी। इसके आधे घंटे बाद ही राष्ट्रपति ने अपना फैसला सुना दिया।
90 दिन के अंदर होंगे चुनाव
पाकिस्तान के सूचना प्रसारण मंत्रालय की ओर से कहा गया है कि, पाकिस्तान में अगले आम चुनाव 90 दिन के अंदर होंगे।
विपक्षी दलों के नेता अयाज सादिक बने स्पीकर
पाकिस्तानी मीडिया की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक, विपक्षी दलों ने संसद की कार्यवाही खुद से ही शुरू कर दी है। विपक्षी नेता अयाज सादिक को स्पीकर की कुर्सी पर बैठा दिया है। विपक्ष अपनी ओर से खुद ही संसद की कार्यवाही कर रहा है।
 विपक्षी दलों का संसद में कब्जा
पाकिस्तानी मीडिया से जानकारी मिल रही है कि अविश्वास प्रस्ताव खारिज होने के बाद बौखलाए विपक्षी दलों ने संसद में कब्जा कर लिया है। उधर, चीफ जस्टिस ने सुप्रीम कोर्ट के अन्य जजों के साथ आपात बैठक बुला ली है।
विपक्ष बोला, संविधान के साथ खिलवाड़ किया गया
पाकिस्तान में सियासी घमासान के बीच रविवार को संसद भंग कर दी गई है। अब यहां 90 दिनों के भीतर चुनाव कराए जाएंगे। आज संसद में अविश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग होनी थी लेकिन उससे पहले डिप्टी स्पीकर ने विदेशी साजिश का हवाला देते हुए अविश्वास प्रस्ताव को खारिज कर दिया। अब विपक्ष मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है। पाकिस्तान पीपल्स पार्टी के नेता बिलावल भुट्टो जरदारी का कहना है कि इमरान सरकार ने संविधान की धज्जियां उड़ा दी हैं।

 


- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.