Universe TV
हर खबर पर पैनी नजर

बंगाल में उपचुनाव में तैनात होंगे 133 कंपनी केंद्रीय बल के जवान, चप्पे-चप्पे पर रहेगी कड़ी सुरक्षा

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

कोलकाता । पश्चिम बंगाल के आसनसोल के लोकसभा उपचुनाव और बालीगंज विधानसभा उपचुनाव के लिए चुनाव आयोग ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम करने का संकेत दिया है। 12 अप्रैल को प्रस्तावित उपचुनाव के दौरान 133 कंपनी केंद्रीय बल के जवानों की तैनाती की जा सकती है। इस बाबत चुनाव आयोग के वरिष्ठ अधिकारी ने संकेत दिया है। मतदान के दिन मतदान केंद्रों पर सीआरपीएफ, बीएसएफ और सीआईएसएफ सहित लगभग 133 केंद्रीय सशस्त्र अर्धसैनिक बलों को कई चरणों में तैनात किये जाने की उम्मीद है। अगले महीने की शुरुआत या इस सप्ताह के अंत में सुरक्षा बलों की तैनात किया जा सकता है।
चुनाव आयोग राज्य के दो केंद्रों में पूरे केंद्रीय बल की सुरक्षा के साथ उपचुनाव कराना चाहता है। आयोग के सूत्रों के अनुसार पिछले विधानसभा चुनाव में प्रत्येक निर्वाचन क्षेत्र के लिए तैनात केंद्रीय बलों की संख्या की तरह ही उपचुनावों में भी होगी। अगले सप्ताह से सुरक्षा बलों की तैनाती की जाएगी।
हर बूथ पर तैनात होंगे केंद्रीय बल के जवान
आयोग उपचुनाव को पूरा करने के प्रति कोई लापरवाही नहीं दिखाना चाहता है। आयोग ने कहा कि यह सुनिश्चित करने के लिए केंद्रीय बलों को लाया जा रहा है कि मतदाता सुरक्षित रूप से अपना मतदान कर सकें।आयोग के सूत्रों ने बताया कि इसी महीने राज्य में जवानों की तैनाती कर दी जाएगी। राज्य में एक बार वे केंद्रों तक रूट मार्च शुरू करेंगे. आयोग के सूत्रों के मुताबिक, गृह मंत्रालय शनिवार को अपनी रिपोर्ट आयोग को भेजेगा। पता चला है कि इसके बाद राज्य में सैनिक पहुंचेंगे। आसनसोल लोकसभा क्षेत्र और बालीगंज विधानसभा क्षेत्र में 12 अप्रैल को उपचुनाव के लिए मतदान होगा। आसनसोल से शत्रुघ्न सिन्हा टीएमसी के उम्मीदवार हैं, जबकि बीजेपी ने अग्निमित्रा पॉल को उम्मीदवार बनाया है। जबकि बालीगंज से टीएमसी ने पूर्व केंदीय मंत्री बाबुल सुप्रियो को अपना उम्मीदवार बनाया है।
उपुचनाव के दौरान सुरक्षा होगी सख्त
बता दें कि पिछले चुनाव में प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र के लिए 17 कंपनी बलों को तैनात किया गया था। इस हिसाब से इस उपचुनाव में केंद्रीय बलों की 133 कंपनियां आ रही हैं। आसनसोल लोकसभा क्षेत्र में सात विधानसभा क्षेत्र हैं. ऐसे में बालीगंज विधानसभा समेत आठ विधानसभा क्षेत्रों में 136 केन्द्रीय बल होने चाहिए, लेकिन आसनसोल में बूथों की संख्या कम होने के कारण 133 कंपनियों को लाया जा रहा है।


- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.