Universe TV
हर खबर पर पैनी नजर

मोरबी हादसे से सबक : कालियाचक में जर्जर झूला पुल का शुरू हुआ जीर्णोद्धार

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

मालदा। मालदा जिले के कालियाचक द्वितीय प्रखंड का चौधरीटोला स्थित लोहे का झूला पुल करीब एक दशक से जर्जर है। स्थानीय लोगों के बार-बार प्रशासन से गुहार लगाने के बावजूद जिला प्रशासन ने पुल के सुधार के लिए पहल नहीं की। लेकिन, गुजरात में हाल ही में हुए सस्पेंशन ब्रिज हादसे के बाद बांगिटोला ग्राम पंचायत के मुखिया हरकत में आ गए हैं। उल्लेखनीय है कि पंचानंदपुर का रास मेला 4 नवंबर से शुरू हो रहा है। इस समय क्षेत्र में पर्यटकों की भारी भीड़ उमड़ रही है। नतीजतन यह पुल यातायात के लिए महत्वपूर्ण हो गया है। बहुत से लोग इस पुल का उपयोग करते हैं। इसके अलावा, यह पुल गोसाईंटोला और चौधरीटोला नामक दो गांवों को जोड़ता है। इस पुल के बनने से कालियाचक और मालदा के बीच की दूरी काफी कम हो गई है। इसलिए इस पुल का महत्व बहुत अधिक है।
इसलिए स्थानीय लोगों की मांग के बावजूद इस पुल का जीर्णोद्धार नहीं किया जाये। गुजरात में झूला पुल दुर्घटना के बाद, इस पुल की मरम्मत की पहल की गई। इस पुल पर करीब तीन लाख रुपए की लागत से नई स्टील शीट लगाई जा रही हैं। बांगिटोला ग्राम पंचायत प्रमुख ताहिदुर रहमान ने कहा कि पुल का स्टील खतरनाक हो गया है। स्थायी कंक्रीट पुल के लिए उत्तर बंगाल विकास विभाग की राज्य मंत्री सबीना यास्मीन को आवेदन दिया गया है। चूंकि इसे अभी तक मंजूरी नहीं मिली है। इसलिए इसे आवाजाही के लिए उपयुक्त बनाने के लिए तत्काल जीर्णोद्धार का कार्य किया जा रहा है।


- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.