Universe TV
हर खबर पर पैनी नजर

क्लास रूम में सो रही छात्रा को बंद कर चले गए शिक्षक, वीडियो वायरल होने पर बीएसए ने किया निलंबित, आप भी देखें वीडियो

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में एक सरकारी प्राथमिक विद्यालय के शिक्षक को कक्षा एक की छात्रा को नियमित स्कूल समय के बाद कक्षा में बंद कर दिए जाने के बाद निलंबित कर दिया गया है। यह घटना बुधवार को लखनऊ के मोहनलालगंज ब्लॉक के सिसंडी इलाके के स्कूल में हुई। बेसिक शिक्षा अधिकारी (बीएसए) अरुण कुमार ने कहा कि शिक्षिका प्रमिला अवस्थी को अपने कर्तव्यों का निर्वहन न करने, स्कूल में बच्चों की सुरक्षा में लापरवाही बरतने और स्कूल छोड़ने से पहले छात्रों की गिनती न करने के आरोप में तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है।
प्रभारी अधिकारी को 15 दिन के भीतर बीएसए को जांच रिपोर्ट उपलब्ध कराने का दिया गया निर्देश
उन्होंने कहा कि जांच के आदेश भी दे दिए गए हैं और प्रभारी अधिकारी को 15 दिन के भीतर बीएसए को जांच रिपोर्ट उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया है। उन्होंने कहा कि निलंबन अवधि के दौरान वह खंड शिक्षा अधिकारी, मोहनलालगंज, लखनऊ के कार्यालय से संबद्ध रहेंगी जबकि आरोप पत्र अलग से जारी किया जाएगा। उन्होंने कहा कि उनका आचरण शिक्षकों की गरिमा के बिल्कुल विपरीत था और इस घटना से बेसिक शिक्षा विभाग की छवि धूमिल हुई है।
क्लासरूम में सो रही थी छात्रा, स्कूल बंद करके चले गए शिक्षक
सूत्रों के मुताबिक, कक्षा एक की छात्रा महक स्कूल की छुट्टी होने पर अपनी कक्षा में सो रही थी। शिक्षकों और सहायक शिक्षकों की उस पर नजर नहीं पड़ी और वे स्कूल गेट में ताला लगाकर घर चले गये। जब स्थानीय लोग गणेश प्रतिमा के विसर्जन के लिए जुलूस निकाल रहे थे तो ढोल की थाप से उसकी नींद खुल गई। लड़की खिड़की की ओर भागी और मदद के लिए चिल्लाई। राहगीर बच्चे के रोने की आवाज सुनकर स्कूल पहुंचे और गेट खोलने के लिए शिक्षक को बुलाया।
इससे पहले जुलाई 2022 में हाथरस जिले में हो चुकी हैं ऐसी घटना
वहीं स्थानीय लोगों ने लड़की को देखा और शिक्षा मित्र (पैरा शिक्षक) को सूचित किया जिन्होंने आकर ताला खोला जिसके बाद लड़की घर पहुंची। वह कम से कम 15 मिनट तक अंदर रहीं और दोपहर 2.30 बजे तक घर पहुंच गईं। मोहनलालगंज क्षेत्र के खंड शिक्षा अधिकारी मनीष कुमार सिंह ने कहा, स्कूल दोपहर 2 बजे खत्म हो गया। यह पहली बार नहीं है कि किसी सरकारी स्कूल में इस तरह की घटना हुई है। जुलाई 2022 में हाथरस जिले के एक सरकारी प्राथमिक विद्यालय के प्रधानाध्यापक सहित 10 शिक्षकों को निलंबित कर दिया गया था क्योंकि वे कक्षा 2 के एक छात्र को जो सो रहा था, स्कूल खत्म होने के बाद कक्षा के अंदर बंद करके घर चले गए थे।


- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.