Universe TV
हर खबर पर पैनी नजर

‘पूरा देश शर्मसार है’, मध्य प्रदेश में 12 साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म होने पर भड़के राहुल गांधी

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने मध्य प्रदेश के उज्जैन में एक लड़की के साथ बलात्कार की घटना को लेकर बुधवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि राज्य में बेटियों के साथ दुष्कर्म के लिए सिर्फ अपराधी नहीं, बल्कि प्रदेश भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार भी गुनहगार है। कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने भी इस घटना को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और शिवराज सिंह चौहान पर निशाना साधा और दावा किया कि महिलाओं के साथ दुष्कर्म के सबसे ज्यादा मामले मध्य प्रदेश में होते है। मध्य प्रदेश के उज्जैन शहर में लगभग 12 वर्षीय एक लड़की सोमवार को सड़क पर खून से लथपथ हालत में पाई गई और चिकित्सा जांच में उसके साथ बलात्कार किए जाने की पुष्टि हुई है।
खरगे ने ‘एक्स’ पर पोस्ट किया, ‘‘मोदी जी जगह-जगह घूमकर महिला आरक्षण का सपना दिखा रहे हैं, और वाहवाही बटोरने की कोशिश कर रहे हैं। असलियत ये है कि भाजपा शासित मध्य प्रदेश से 12 वर्षीय एक नाबालिग से हैवानियत की बेहद पीड़ादायक घटना सामने आई है।” उन्होंने दावा किया, ‘‘महिलाओं के साथ दुष्कर्म के सर्वाधिक मामले, भाजपा शासित मध्य प्रदेश में होते हैं, जहां हर दिन बलात्कार की आठ घटनाएं होती हैं। मोदी जी और उनके मुख्यमंत्री शिवराज सिंह जी को चुनाव प्रचार से फ़ुर्सत मिले तो वे शायद मध्य प्रदेश की महिलाओं की चीख़ें सुन पाएंगे।”
राहुल गांधी ने ‘एक्स’ पर पोस्ट किया, ‘‘मध्य प्रदेश में 12 साल की एक बच्ची के साथ हुआ भयावह अपराध, भारत माता के हृदय पर आघात है। महिलाओं के खिलाफ अपराध और नाबालिग बच्चियों के खिलाफ हुए दुष्कर्म की संख्या सबसे ज़्यादा मध्य प्रदेश में है।” उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘इसके गुनहगार वे अपराधी तो हैं ही जिन्होंने ये गुनाह किये। साथ ही प्रदेश की भाजपा सरकार भी है, जो बेटियों की रक्षा करने में अक्षम है।” राहुल गांधी ने दावा किया, ‘‘न न्याय है, न कानून व्यवस्था और न अधिकार – आज, मध्य प्रदेश की बेटियों की स्थिति से पूरा देश शर्मसार है। लेकिन, प्रदेश के मुख्यमंत्री और देश के प्रधानमंत्री में बिल्कुल शर्म नहीं बची है – चुनावी भाषण, खोखले वादों और झूठे नारों के बीच बेटियों की चीखें उन्होंने दबा दी हैं।”

 


- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.